More

    महाराष्ट्र में हर साल पलायन करने वाले मजदूर के बच्चों के लिए खेत में ही खुला स्कूल

    महाराष्ट्र में हर साल दीपावली के बाद हजारों की संख्या में लोग दूसरे इलाकों में गन्ना खेतों में मजदूरी करने आते हैं, लेकिन इससे इनके बच्चों (children of migrant laborers) की पढ़ाई ठप हो जाती है. ऐसे में सांगली जिले में खेतों में ही स्कूल खोले जा रहे हैं. इसमें आंगनवाड़ी सेविकाओं की मदद ली जा रही है. सभापति भूमिका बेरगल का कहना है कि इससे बच्चों की पढ़ाई जारी रखी जा सकती है. अकेले बीड जिले से ही हर साल पांच लाख मजदूर पश्चिमी महाराष्ट्र, कर्नाटक और तमिलनाडु मजदूरी करने जाते हैं.

    Source link

    Latest articles

    spot_imgspot_img

    Related articles

    Leave a reply

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    spot_imgspot_img